S M L

पहली छमाही में डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 16 प्रतिशत बढ़ा

चालू वित्त वर्ष में सितंबर तक के आंकड़ों से पता चलता है कि कुल टैक्स कलेक्शन 3.86 लाख करोड़ रुपए का रहा है

Bhasha Updated On: Oct 11, 2017 06:55 PM IST

0
पहली छमाही में डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 16 प्रतिशत बढ़ा

भारत का डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन अप्रैल से सितंबर के बीच 15.8 प्रतिशत बढ़कर 3.86 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया.

वित्त मंत्रालय ने कहा कि ऐसा डायरेक्ट टैक्स के दायरे में बढ़ोतरी के कारण हुआ है. अब तक आ चुका डायरेक्ट टैक्स चालू वित्त वर्ष के 9.80 लाख करोड़ रुपए के बजट अनुमान का 39.4 प्रतिशत है.

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि चालू वित्त वर्ष में सितंबर तक के आंकड़ों से पता चलता है कि कुल टैक्स कलेक्शन 3.86 लाख करोड़ रुपए का रहा है जो पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 15.8 प्रतिशत अधिक है.

पहली तिमाही में लगभग 80 हजार करोड़ का रिफंड

इसी तरह सितंबर तक एडवांस टैक्स कलेक्शन 1.77 लाख करोड़ रुपए रहा है जो पिछले साल की समान अवधि से 11.5 प्रतिशत अधिक है. इस दौरान कॉरपोरेट इनकम टैक्स का एडवांस कलेक्शन 8.1 प्रतिशत और निजी इनकम टैक्स का का एडवांस कलेक्शन 30.1 प्रतिशत बढ़ा है.

मंत्रालय ने बताया कि अप्रैल से सितंबर के दौरान 79,660 करोड़ रुपए का रिफंड दिया गया है. इस दौरान ग्रॉस टैक्स कलेक्शन 10.3 प्रतिशत बढ़कर 4.66 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi