पाकिस्तान: 2018 चुनाव के लिए सुन्नी दलों ने बनाया महागठबंधन

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की सरकार में धार्मिक मामलों के संघीय मंत्री रह चुके हामिद सईद काजमी ‘निजाम-ए-मुस्तफा ग्रैंड अलायंस’ के अस्थायी प्रमुख होंगे

Bhasha

पाकिस्तान में सुन्नी समुदाय से ताल्लुक रखने वाले धार्मिक-राजनीतिक दलों ने 2018 में होने वाले संसदीय चुनाव के लिए महागठबंधन बनाया है.

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की सरकार में धार्मिक मामलों के संघीय मंत्री रह चुके हामिद सईद काजमी ‘निजाम-ए-मुस्तफा ग्रैंड अलायंस’ के अस्थायी प्रमुख होंगे. यह गठबंधन अपने घोषणापत्र को अंतिम रूप देने के लिए 20 नवंबर को बैठक करेगा.


हाल ही में लाहौर की नेशनल असेंबली की सीट एनए-120 पर हुए उपचुनाव में ‘तहरीक-ए-लब्बैक रसूल अल्लाह’ और जमात-उद-दावा की पार्टी ‘मिल्ली मुस्लिम लीग’ ने अच्छा प्रदर्शन किया था. इस सीट पर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज चुनाव जीती थी.

सुन्नी महागठबंधन में सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल, जमीयत उलेमा-ए-पाकिस्तान (नूरानी), जमीयत उलेमा-ए-पाकिस्तान, पाकिस्तान सुन्नी तहरीक ओर जमात-ए-अहले सुन्नत शामिल हैं.

यह गठबंधन बैठक में अगले साल के चुनाव के लिए सीटों का तालमेल करेगा.