ट्रंप ने चेताया, व्यापार में ‘गलत हरकत’ पर आंख नहीं मूंदेगा अमेरिका

एक दिन पहले ही ट्रंप ने चीन के साथ दोस्ताना और संतुलित कारोबारी रिश्ते स्थापित करने के लिए अपनी सख्त भाषा को नरम किया था

Bhasha

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी एशिया यात्रा के दौरान बीजिंग से रवाना होने के कुछ घंटों बाद ही एक ऐसा बयान दिया है, जो सीधे तौर पर चीन को निशाना बनाने वाला है. उन्होंने व्यापार के लिए अपनाए जाने वाले तथाकथित 'गलत व्यवहार' पर हमला बोलते हुए कहा कि इसकी वजह से अमेरिकियों की नौकरी जा रही है. इसके साथ ही उन्होंने चेताया कि अब अमेरिका ऐसे व्यवहार पर आंख मूंदकर नहीं बैठेगा.

ट्रंप ने वियतनाम में सालाना एशिया-प्रशांत सहयोग सम्मेलन के मौके पर अलग से मुख्य कार्यकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज के दिन से हम उचित और समानता के आधार पर प्रतिस्पर्धा करेंगे. उन्होंने कड़े शब्दों में कहा, ‘अब हम किसी भी स्थिति में अमेरिका का हक छीनने नहीं देंगे. मैं पहले अमेरिकियों को ही नौकरी दूंगा.’


एक दिन पहले दिया था अलग बयान

यह ट्रंप के बयानों में एक बड़ा बदलाव है. एक दिन पहले ही ट्रंप ने चीन के साथ दोस्ताना और संतुलित कारोबारी रिश्ते स्थापित करने के लिए अपनी सख्त भाषा को नरम किया था. यहां तटीय शहर दनांग में उपस्थित कार्यकारियों के समक्ष ट्रंप एक बार फिर से अपने पुराने अंदाज में लौटे. उन्होंने कहा कि वह द्विपक्षीय व्यापार करार करने को तैयार हैं, बशर्तें ये पारस्परिक और समानता वाले हों.

चीन का नाम लिए बिना ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने विश्व व्यापार संगठन के सिद्धांतों का पालन किया है. इससे यह हुआ कि कुछ देशों ने हमारा लाभ उठाया. उन देशों ने नियमों की अनदेखी करते हुए नुकसान पहुंचाने वाला व्यवहार अपनाया. उन्होंने उत्पादों की डंपिंग की, अपनी मुद्राओं की विनिमय दरों में गड़बड़ी की और अपनी वस्तुओं पर सब्सिडी दी.