यूपी चुनाव: सातवें चरण के बाहुबली

Vivek Anand

कांग्रेस के विधायक अजय राय वाराणसी के पिंडरा विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में हैं. अजय राय का 20 सालों का जीत का रिकॉर्ड है.

मुख्तार अंसारी के भाई सिबगतुल्ला अंसारी को बीएसपी ने मोहम्मदाबाद सीट से उम्मीदवार बनाया है. 2012 में उन्होंने कौमी एकता दल के टिकट पर मोहम्मदाबाद विधानसभा सीट पर चुनाव जीता था.


माफिया मुन्ना सिंह की पत्नी सीमा सिंह मड़ियाहूं विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रही हैं. अपना दल (कृष्णा गुट) ने सीमा सिंह को उम्मीदवार बनाया है.

धनंजय सिंह का नाम यूपी में बाहुबलियों में शुमार करता है. 2017 के विधानसभा चुनाव में अब एक बार फिर मल्हनी से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. उन्होंने दो बार विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की है.

चंदौली के सैय्यदराजा से बीजेपी के विधायक सुशील सिंह को बीजेपी ने मैदान में उतारा है. 2012 यूपी विधानसभा चुनाव में इन्होंने सकलडीहा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीता था.

उपेंद्र सिंह गुट्टू को बीएसपी से टिकट मिला है, इस बार वह यूपी के चंदौली की सकलडीहा सीट से चुनावी मैदान में उतरे हैं. इन पर अभिनेत्री मनीषा कोईराला के सेकेट्री अजीत देवानी की हत्या का भी आरोप रहा है.