रजनीकांत अपने जन्मदिन पर कर सकते हैं नई पार्टी की घोषणा

खबर के मुताबिक रजनीकांत का अलग चेहरा जनता के सामने होगा, वे ना तो वापपंथी हैं, ना ही कट्टरपंथी, ऐसे में उनकी ये इमेज समाज के हर तबके को प्रभावित कर सकती है

FP Staff

बीजपी में शामिल होने की अटकलों के बीच सुपरस्टार रजनीकांत से जुड़ी अलग खबर आ रही है. वह अपने जन्मदिन पर नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं. दक्षिण की राजनीति में इस विषय पर चर्चा जोरों पर है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक वे आगामी 12 दिसंबर को अपने जन्मदिन पर राजनीति में आने का खुलासा कर सकते हैं. वे अलग पार्टी बनाने जा रहे हैं. किसी अन्य पार्टी को ज्वाइन नहीं कर रहे हैं.


खबर के मुताबिक रजनीकांत का अलग चेहरा जनता के सामने होगा. वे ना तो वापपंथी हैं, ना ही कट्टरपंथी. ऐसे में उनकी ये इमेज समाज के हर तबके को प्रभावित कर सकती है.

गर्म हो चुका है चर्चाओं का बाजार 

अगर बीजेपी सहोयगी बनाना चाहेगी, ऐसी स्थिति में भी वह चाहेंगे कि तमिलनाडु विधानसभा चुनाव रजनी बनाम स्टालिन हो. हालांकि पूरी स्थिति पार्टी घोषणा के बाद ही स्पष्ट हो पाएगी.

इन सब बातों के बीच संभावनाओं पर लोग बात करने लगे हैं. लेखक एस. राजनगम का मानना है कि रजनीकांत के राजनीति में आने से दक्षिण भारत की राजनीति का चेहरा बदल जाएगा. वे चाहेंगे कि पहले प्रयास में ही उन्हें सीएम पद को पाने में सफलता मिल जाए लेकिन ऐसा होना बहुत ही मुश्किल है.

एक अन्य ने कहा कि रजनी अकेले सत्ता में नहीं आ सकते. डीएमके को वे अपना प्रमुख विरोधी मानते हैं. ऐसे में एआईडीएमके और बीजेपी के साथ गठबंधन कर वे आगे बढ़ सकते हैं.

बीजेपी और एआईएडीएमके के बीच बनाना होगा सामंजस्य 

देखने वाली बात यह होगी कि दोनों पार्टियों में सीएम पद के कई उम्मीदवार हैं. ऐसे में रजनीकांत के लिए दोनों कितना सुलभ रहती है या फिर रजनी खुद के लिए कितनी जगह बना पाते हैं.

इससे पहले अभिनेता कमल हसन पहले ही अपनी पार्टी की घोषणा कर चुके हैं. वह बीजेपी के खिलाफ लगातार मुखर भी रहे हैं. वहीं रजनीकांत और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच की नजदीकियां भी किसी से छिपी नहीं है.