विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

Happy Onam 2017: देखें कैसी है केरल में स्वागत की तैयारी

आस्था | FP Staff | Sep 05, 2017 04:01 PM IST
X
1/ 6
 केरल का सबसे बड़ा त्‍योहार है ओणम जिसे यहां पर उत्‍तर भारत के त्‍योहर दीपावली की तरह मनाया जाता है. इस दिन घरों को फूलों से सजाया जाता है और तरह-तरह के पकवान बनाए जाते हैं. दस दिन तक चलने वाले इस त्‍योहार का मुख्‍य आकर्षण घर की सजावट और खानपान होता है

केरल का सबसे बड़ा त्‍योहार है ओणम जिसे यहां पर उत्‍तर भारत के त्‍योहर दीपावली की तरह मनाया जाता है. इस दिन घरों को फूलों से सजाया जाता है और तरह-तरह के पकवान बनाए जाते हैं. दस दिन तक चलने वाले इस त्‍योहार का मुख्‍य आकर्षण घर की सजावट और खानपान होता है

X
2/ 6
 ओणम केरल का सबसे लोकप्रिय और प्राचीन त्योहार है जो राजा बलि की याद में मनाया जाता है। पुराणों के मुताबिक केरल के राजा बलि ने भगवान विष्णु के अवतार वामन को अपना सारा साम्राज्य दान कर दिया था। राजा बलि अपनी प्रजा से बेहद प्रेम करते थे। इसलिए उनके जाने के बाद उनकी प्रजा काफी दुखी हो गई थी। ऐसा माना जाता है कि हर साल राजा बलि एक दिन के लिए अपनी प्रजा से मिलने आते हैं। और इसी उपलक्ष्य में ओणम उत्सव मनाया जाता है।

ओणम केरल का सबसे लोकप्रिय और प्राचीन त्योहार है जो राजा बलि की याद में मनाया जाता है। पुराणों के मुताबिक केरल के राजा बलि ने भगवान विष्णु के अवतार वामन को अपना सारा साम्राज्य दान कर दिया था। राजा बलि अपनी प्रजा से बेहद प्रेम करते थे। इसलिए उनके जाने के बाद उनकी प्रजा काफी दुखी हो गई थी। ऐसा माना जाता है कि हर साल राजा बलि एक दिन के लिए अपनी प्रजा से मिलने आते हैं। और इसी उपलक्ष्य में ओणम उत्सव मनाया जाता है।

X
3/ 6
ओणम हर साल श्रावण शुक्ल की त्रयोदशी को मनाया जाता है. जिसमें लोग आपस में मिल-जुलकर खुशियां मनाते हैं. केरल में इन दिनों चाय, अदरक, इलायची, काली मिर्च और धान की फसल पककर तैयार हो जाती है और लोग फसल की अच्छी उपज की खुशी में ये त्योहार मानकर आपस में खुशियां बांटते हैं

ओणम हर साल श्रावण शुक्ल की त्रयोदशी को मनाया जाता है. जिसमें लोग आपस में मिल-जुलकर खुशियां मनाते हैं. केरल में इन दिनों चाय, अदरक, इलायची, काली मिर्च और धान की फसल पककर तैयार हो जाती है और लोग फसल की अच्छी उपज की खुशी में ये त्योहार मानकर आपस में खुशियां बांटते हैं

X
4/ 6
ये तो आप जानते हैं कि भारत एक रंग-बिरंगा देश है. यहां की भौगोलिक स्थिति जितनी रंगारंग है उतनी ही विविधता इसके त्योहारों में भी है. भारत के कोने-कोने में मनाएं जाने वाले सांस्कृतिक त्योहारों की रंगीन तस्वीर देखते ही बनती है

ये तो आप जानते हैं कि भारत एक रंग-बिरंगा देश है. यहां की भौगोलिक स्थिति जितनी रंगारंग है उतनी ही विविधता इसके त्योहारों में भी है. भारत के कोने-कोने में मनाएं जाने वाले सांस्कृतिक त्योहारों की रंगीन तस्वीर देखते ही बनती है

X
5/ 6
केरल में ओणम का त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. जिस तरह दशहरे में दस दिन पहले रामलीलाओं का आयोजन होता है उसी तरह ओणम से दस दिन पहले घरों को फूलों से सजाने का कार्यक्रम चलता है.

केरल में ओणम का त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. जिस तरह दशहरे में दस दिन पहले रामलीलाओं का आयोजन होता है उसी तरह ओणम से दस दिन पहले घरों को फूलों से सजाने का कार्यक्रम चलता है.

X
6/ 6
केरल में सभी घर फूलों से सजे हैं.लोग भी पारंपरिक परिधानों में नजर आ रहे हैं और हर तरफ सब खिले हुए चेहरे हैं।

केरल में सभी घर फूलों से सजे हैं.लोग भी पारंपरिक परिधानों में नजर आ रहे हैं और हर तरफ सब खिले हुए चेहरे हैं।

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी