S M L

चंद्रग्रहण का असर: 26 सालों में पहली बार दोपहर में काशी की गंगा आरती

26 वर्षों में कभी भी गंगा आरती दिन में नहीं हुई पर सोमवार को ऐसा नहीं हुआ

FP Staff Updated On: Aug 07, 2017 09:06 PM IST

0
चंद्रग्रहण का असर: 26 सालों में पहली बार दोपहर में काशी की गंगा आरती

सोमवार के चंद्रग्रहण का असर वाराणसी की गंगा आरती पर भी देखने को मिला. काशी के दशाश्वमेध घाट पर होने वाली 40 मिनट की गंगा आरती शाम के बजाय दोपहर में पूरी हुई.

26 वर्षों में कभी भी गंगा आरती दिन में नहीं हुई पर सोमवार को ऐसा नहीं हुआ. दरअसल ग्रहणकाल में स्नान, पूजा-पाठ, प्रसाद अर्पण आदि धार्मिक कार्य करना मना है. इन्हीं धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक वाराणसी में गंगा आरती को शाम की बजाय दोपहर में संपन्न किया गया.

गौरतलब है कि सोमवार को रक्षाबंधन होने के कारण उसके समय पर भी चंद्रग्रहण का असर पड़ा.

चंद्रग्रहण रात 10 बजकर 52 से शुरू होकर 12 बजकर 22 मिनट तक रहेगा. यह पूर्ण चंद्रग्रहण नहीं होगा. मान्यताओं के मुताबिक ग्रहण से पहले मंदिरों के कपाट बंद करने की परंपरा है.

दिन में आरती होने के कारण इस दौरान भक्तों की भीड़ कम दिखी. साथ ही वे आरती होता देख कर चौंके हुए नजर आए. हालांकि मंगलवार से  गंगा आरती दोबारा शाम में होने लगेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi